State government fully committed to the welfare of the soldiers/ सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ के अवसर पर वीर जवानों को बधाई व शुभकामनाएं-मुख्यमंत्री

0
2109
Reading Time: 2 minutes

Dehradun (DIPR)-Chief Minister Mr. Trivendra Singh Rawat graced the felicitation function “Parakram Parva”, organized on the occasion of 2nd Anniversary of Surgical Strike as the chief guest at a local farm house on Canal Road, Dehradun on Saturday. On this occasion Chief Minister honoured the NCC Cadets and encouraged the young cadets.

Chief Minister said that two years ago on September 29, Indian Army carried out a surgical strike and killed 38 terrorist intruders. It was a big bold decision. The Prime Minister and the country have immense faith in the capacity, courage, valour, self-determination and bravery of our soldiers. We were also successful diplomatically. The Prime Minister gave a clear message to neighbouring country that talks and guns cannot go together. Chief Minister said that recently the data released by the Police Department of Jammu and Kashmir reveals that terror incidents in the state have witnessed a decline. Terrorists were also eliminated in Operation ‘All Out’ in year 2017. 150 militants were killed in 2018. We do not believe in expansion but we want to protect our country. Chief Minister congratulated the brave soldiers and extended his best wishes and also said that he salute their courage and heroism. He said that we are moving towards resolution of the Kashmir problem. He said that while the army is performing the duty of protecting the country, the common man should increase the morale of the army.

On this occasion, MLA Mr. Ganesh Joshi said that under the leadership of Chief Minister Mr. Trivendra Singh Rawat, state government is fully committed to the welfare of the soldiers and their families. The provision of employment has been made by the state government for one family member of a martyred soldier. In order to solve the problems of the soldiers, one ADM level official has been appointed as the nodal officer in each district. Arrangements of one residential building each in Dehradun and Haldwani has been made for the students of the families of soldiers. One rank One Pension was implemented by the Central Government. We are continuously working for the welfare and betterment of our soldiers and their families.

On this occasion, MLA Mr. Harbans Kapoor, Mr. Umesh Sharma Kau, Mr. Khajan Dass, Mr. Munna Singh Chauhan, Lt. Gen. Anand Swaroop, Lt. Gen. O.P. Kaushik and a large number of ex-servicemen were present.

देहरादून (सू.ब्यूरो)-मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को कैनाल रोड देहरादून स्थित एक स्थानीय फार्म हाउस में सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित सम्मान समारोह ‘‘पराक्रम पर्व’’ में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने उपस्थित एनसीसी कैडेटस को सम्मानित किया तथा युवा कैडेटस का उत्साहवर्द्धन किया।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि दो वर्ष पूर्व 29 सितम्बर को भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक किया तथा 38 आंतकी घुसपैठियों को समाप्त किया। यह एक बड़ा साहसिक निर्णय व कार्य था। प्रधानमंत्री व देश को अपने सैनिकों की अदम्य क्षमता, साहस, पराक्रम, आत्मबल व वीरता पर अटूट विश्वास था। हम कूटनीतिज्ञ क्षेत्र में भी सफल रहे। प्रधानमंत्री ने पड़ोसी देश को स्पष्ट संदेश दिया  कि बातचीत व बंदूक साथ-साथ नही चल सकती। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हाल ही में जम्मू एवं कश्मीर के पुलिस विभाग से जारी आकड़ों से पता चलता है कि जम्मूं एव कश्मीर में आतंकी घटनाओं में कमी आई है। 2017 में संचालित आॅपरेशन आॅल आउट में भी आंतकीयों को समाप्त किया गया। 2018 में 150 आतंकी मारे गये। हम विस्तार में विश्वास नही करते, परन्तु हम देश की रक्षा चाहते है। हम अपने वीर जवानों को बधाई व शुभकामनाएं देते है व उनके साहस व वीरता को सलाम करते है। हम कश्मीर समस्या के समाधान की ओर बढ़ रहे है।  जहां एक ओर सेना देश रक्षा का कर्तव्य निभा रही है, आम जन को सेना का मनोबल बढ़ाना चाहिए।
इस अवसर पर विधायक श्री गणेश जोशी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नेतृत्व में राज्य सरकार सैनिकों व उनके परिवारों के कल्याण के लिए निरन्तर प्रयासरत है। राज्य सरकार द्वारा शहीद सैनिक के एक परिजन के लिए नौकरी का प्रावधान कर दिया गया है। सैनिकों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रत्येक जिले में एडीएम स्तर के एक अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया गया है। देहरादून व हल्द्वानी में सैनिक परिवार के छात्र-छात्राओं के लिए एक-एक आवासीय भवन की व्यवस्था की गई है। केन्द्र सरकार द्वारा वन रैंक वन पेंशन को लागू किया गया। हम अपने सैनिकों व उनके परिवारो के कल्याण व विकास के लिए निरन्तर कार्य कर रहे है।
इस अवसर पर विधायक श्री हरबंस कपूर, श्री उमेश शर्मा काऊ, श्री खजान दास, श्री मुन्ना सिंह चैहान, ले0 ज0 आन्नद स्वरूप, ले0 ज0 श्री ओ0 पी0 कौशिक व बड़ी संख्या में भूतपूर्व सैनिक उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY