प्रधानमंत्री ने आजादी के बाद भारत की एकता का श्रेय सरदार पटेल को दिया

0
6876
Reading Time: < 1 minute

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी के बाद भारत के एकीकरण का श्रेय सरदार रिपीट सरदार वल्लभ भाई पटेल को देते हुए रविवार को कहा कि समय पर उनके हस्तक्षेप की वजह से ही जम्मू कश्मीर को ‘‘आक्रमण’’ से बचाने में मदद मिली ।

अपने मासिक रेडियो संबोधन ‘‘मन की बात’’ में प्रधानमंत्री मोदी ने देश के युवाओं से, 31 अक्टूबर को सरदार पटेल की जयंती पर आयोजित की जा रही ‘‘रन फॉर यूनिटी’’ में बड़ी संख्या में हिस्सा लेने का भी अनुरोध किया।

प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘अगर आज हम एकीकृत भारत देख रहे हैं तो इसका पूरा पूरा श्रेय सरदार रिपीट सरदार पटेल के रणनीतिक कौशल और उनकी बुद्धिमत्ता को जाता है।’’

उन्होंने कहा कि इस साल 31 अक्टूबर बहुत ही खास होगा क्योंकि सरदार रिपीट सरदार पटेल को ‘‘सच्ची श्रद्धांजलि’’ के तौर पर स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा।

गुजरात में नर्मदा नदी के तट पर बनाई गई सरदार पटेल की इस प्रतिमा की ऊंचाई अमेरिका के ‘‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’’ की ऊंचाई से दोगुनी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा ‘‘यह दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है। भारत की भूमि पर दुनिया की इस सबसे ऊंची प्रतिमा को देख कर हर भारतीय को गर्व महसूस होगा। सच्चे माटी पुत्र सरदार पटेल अब हमारे आसमान की भी शोभा बढ़ाएंगें।’’

मोदी आगामी बुधवार को इस प्रतिमा को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि यह प्रतिमा अब नया पर्यटन गंतव्य बन जाएगी।

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को भी उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी। 31 अक्टूबर को इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि है।

प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘31 अक्टूबर को हमारी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि है। इंदिरा जी को भी हमारी सम्मानपूर्वक श्रद्धांजलि।’’

LEAVE A REPLY