उत्तराखंड विधानसभा में तिवारी को श्रद्धांजलि

0
3727
Reading Time: 1 minute

देहरादून, चार दिसंबर :भाषा: उत्तराखंड विधानसभा में अविभाजित उत्तर प्रदेश तथा उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत नारायणदत्त तिवारी को मंगलवार को श्रद्धांजलि दी गयी ।
विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले दिन मुख्यमंत्री, मंत्रियों समेत सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई सदस्यों ने तिवारी के देश तथा दोनों राज्यों के विकास में उनके योगदान को याद करते हुए उनसे जुडे़ अपने अनुभव साझा किये तथा उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी ।
मुख्यमंत्री रावत ने दिवंगत नेता को याद करते हुए उनके निधन को एक युग का समाप्त होना बताया तथा कहा कि तिवारी के समय ही प्रदेश को विशेष औद्योगिक पैकेज मिला था। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश के विकास कार्यों में तिवारी की महत्वपूर्ण भूमिका को आसानी से नहीं भुलाया जा सकता ।
प्रदेश के संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने उनसे जुडे़ कई अनुभवों को साझा करते हुए उनके संसदीय ज्ञान, शिष्टाचार, वाक चातुर्य, अच्छी याददाश्त, क्रोध में भी शालीनता न खोने जैसे गुणों की प्रशंसा की तथा कहा कि उनके शब्दकोश में ‘न’ शब्द नहीं था ।
तिवारी मंत्रिमंडल में उनकी सहयोगी रहीं नेता प्रतिपक्ष, इंदिरा हृदयेश ने कहा कि तिवारी संसदीय ज्ञान के मर्मज्ञ थे और उनसे उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिला । उन्होंने कहा कि तिवारी काम के बंटवारे और विकेंद्रीकरण के प्रबल पक्षधर थे ।
वन मंत्री हरक सिंह रावत, खेल मंत्री अरविंद पांडे, कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, परिवहन मंत्री यशपाल आर्य समेत सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई सदस्यों ने भी तिवारी से जुडे़ संस्मरणों को याद किया ।

LEAVE A REPLY