1266 वरिष्ठ नागरिक एवं दिव्यांग जनों को करीब 65 लाख धनराशी के सहायक उपकरण वितरित

0
10427
Reading Time: 1 minute
पौड़ी (सूचना)-जनपद पौड़ी के श्रीनगर जी.आई. एण्ड आई.टी.आई मैदान में भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को) व जिला प्रशासन के तत्वाधान से आयोजित कार्यक्रम सामाजिक आधिकारिता शिविर, सामाजिक न्याय व आधिकारिकता मंत्रालय की राष्ट्रीय वयोश्री एवं एडिप योजना के अंतर्गत वरिष्ठ नागरिकों तथा दिव्यांग जनों को सहायक उपकरण वितरण शिविर का बतौर मुख्य अतिथि केन्द्रीय मंत्री सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार थावरचंद गहलोत ने उपस्थित सूबे के मंत्रीगण एवं गणमान्य व्यक्तियों के साथ दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। आयोजित कार्यक्रम में जनपद के कुल 1266 वरिष्ठ नागरिक एवं दिव्यांग जनों को करीब 65 लाख धनराशी के  व्हीलचेयर, वैसाखी, छड़ी, चश्मा, कान की मशीन, दांत, आधुनिक मोबाइल एवं सुरक्षा छड़ी आदि सहायक उपकरण वितरण किया। कार्यक्रम में आश्रम पद्धति विद्यालय श्रीनगर, रा.बा.इ.का. श्रीनगर छात्राओं एवं पर्वतीय कला मंच को पाॅच-पाॅच हजार के नगद धनराशी सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार एवं अलिम्को की ओर से प्रोत्साहन सम्मान निधि के रूप में दिया। कार्यक्रम परिसर में स्वास्थ्य, समजकल्याण, मतदाता सहित समस्त ब्लाकों के स्टाॅल लगाकर पंजिकरण स्वास्थ प्रमाण पत्र एवं मतदाता सूचि में नाम जोड़ने संसोधन करने तथा शेष उपकरण वितरण किया गया।
केन्द्रीय मंत्री सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार थावरचंद गहलोत ने कार्यक्रम में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जनपद में पहले से ही सर्वे कार्य कराये गये थे। जिसके तहत आज जिलाप्रशान एवं अमिल्को के सहयोग से चिन्हित 1266 लाभार्थी को सहायक उपकरण वितरण कर उनकी जीवन में सुगमता लाने का प्रयास किया गया है। कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के कार्यकाल में ऐसी अनेकों महत्वकांक्षी योजनाऐं धरातल पर उतर रहे है, जबकि 6 वर्ड रिकार्ड दिव्यांग के क्षेत्र में बनाये गये है। देश में अबतक 650 कैम्पों के तहत 12 लाख सहायक उपकरण वितरित की गई है। दिव्यांग एवं समाज के पिछडा वर्ग के लिए वित विकास निगम के तहत कौशल विकास प्रशिक्षण के तहत आत्मनिर्भर बनाये जा रहे है। अबतक 12 लाख से अधिक लोगों को इस योजना के तहत महिला को 4 प्रतिशत तथा पुरूष वर्ग को 5 प्रतिशत पर ऋण देकर रोजगार से जोडा गया है। बीपीएल एवं गरीब असाय लोगों के जीवनचर्या में सुगमता लाने के लिए सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार कटीबद्ध है। उन्होने कहा कि इससे पूर्व अल्मोडा में भी कैम्प का आयोजन किया गया है। कहा कि प्रदेश के समस्त जनपदों में सर्वे के तहत चिन्हित बीपीएल एवं गरीब असाय व दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण वितरण किया जायेगा। उन्होने राज्य के अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए आईएएस एवं पीसीएस की तैयारी व विदेशों में शिक्षा ग्रहण करने हेतु योेजना के तहत पूरी खर्चा देने की बात कही। वहीं राज्य स्तर पर इन बच्चों के लिए श्रेष्ठ मान्यता प्राप्त कोचिंग संस्थान को पैसे देने की बात कही। जबकि राज्य के विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों में एसी,एसटी छात्रावास के लिए भूमि चिन्हित कर देने को कहा जिसमें संबंधित मंत्रालय पांच छात्रावास का निर्माण करेंगे। कहा कि समाज में समरसता लाने के लिए छात्रावास में 60 प्रतिशत एससी,एसटी तथा 40 प्रतिशत अन्य छात्र-छात्राऐं रहेगे। दो विश्वविद्यालय मे अम्बेडकर चीयर के लिए बोर्ड की बैठक पर स्वीकृति देने की बात कही। उन्होने कहा कि भारत सरकार की योजना का लाभ जहां पर भी वृद्ध, दिव्यागजन व असाय लोग है वहीं धरातल पर पहुंचना चाहिए। इसके लिए उन्होने जन सहभागीता जरूरी बताया।
सूबे के समाज कल्याण एवं अल्पसंख्यक कल्याण व परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने अपने संबोधन में कहा कि जनपद के इतनी बड़ी संख्या में निआश्रित व बीपीएल परिवार जो कमजोर है, सहायक उपकरण से उनके जीवन में सुधार आयेगा। उन्होने कहा कि एससी,एसटी समाज की मुख्यधारा पर आने को छटपटा रहा है किन्तु आर्थिकीय कमजोर होने से वे पढ नही पाते है ऐसे होनहार बच्चों को दिल्ली, देहरादून में कोचिंग कराये जा रहे है। कहा कि राज्य में विगत 4 वर्षाे से छात्रवृति से बंचित छात्रों को सरकार छात्रवृति दे रहे है। सेवा भाव हमारा धर्म होना चाहिए जिससे सरकार की मंशा फलीभूत होगी।
प्रदेश के उच्च शिक्षा, सहकारिता, प्रोटोकाल एवं दुग्ध विकास व राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  डाॅ0 धन सिंह रावत कहा कि भारत सरकार की मंत्रालय की बेहतर पहल से जनपद के वरिष्ठ नागरिक एवं दिव्यांग जनों करीब 65 लाख के सहायक उपकरण वितरण किया जा रहा है। उन्होने कहा कि विदेश शिक्षा के लिए सामाजिक न्याय मंत्रालय एससी व एसटी एवं ओबीसी के बच्चों की पूरा खर्चा उठाता है। वहीं एस.सी. व एस.टी. के 50 होनहार बच्चों को आईएएस की कोचिंग करा रहे है। उन्होने केन्द्रीय मंत्री से दो विश्वविद्यालय में अम्बेडकर चीयर के लिए 35लाख, 35 लाख देने तथा 5 महाविद्यालयों के लिए छात्रावास की मांग की। उन्होने कहा कि राज्य शिक्षा के क्षेत्र में तरक्की कर रहे है। जबकि यहां की बालिकाएंे 90 प्रतिशत टाॅपर निकलते है।
इस दौरान विधायक पौड़ी मुकेश कोली, मुख्य विकास अधिकारी पौडी दीप्ति सिंह सहित अन्य गणमान्य लोगों ने भी कार्यक्रम को संबोधन किया।
इस अवसर पर प्रदेश सहकारी संघ उपाध्यक्ष मातबर सिह रावत, भाजपा मण्डल अध्यक्ष जितेन्द्र रावत, निजि सचिव केन्द्रीय मंत्री नीरज सेमवाल,अपर जिलाधिकारी रामजी शरण शर्मा, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुनिता अरोडा, अलिम्को उपमहाप्रबंधक संजय सिह, संदीप सिह सहित आमजनमानस एवं वरिष्ठ नागरिक एवं दिव्यांग जन उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY