जनवरी माह से सडक में कोई भी बिना नम्बर की गाडी नही दिखनी चाहिये-जिलाधिकारी डा0 नीरज खैरवाल

0
3971

रूद्रपुर 29 दिसम्बर- सडक दुर्घटनाओ पर अंकुश लगाने के लिए जिलाधिकारी डा0 नीरज खैरवाल व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कृृष्ण कुमार वीके की अध्यक्षता में सडक सुरक्षा समिति की बैठक कलक्टेªेट सभागार में आयोजित की गई। सडको के सुधारीकरण व यातायात व्यवस्था में सुधार लाने के लिये डियाजियो इंडिया ने आज इंस्टीयूट आॅफ रोड टैªफिक एजुकेशन आइआरटीई के साथ मिलकर जनपद की पुलिस के लिये सडक सुरक्षा क्षमता निर्माण कार्यक्रम को बढावा देगी। आइआरटीई के अध्यक्ष डा0 रोहित बलुजा ने बताया विश्व स्वास्थ संगठन की सडक सुरक्षा 2018 पर ग्लोबल स्टेटस रिपोर्ट के अनुसार दुनियाभर में सबसे अधिक मौत सडक दुर्घटनाओ से होती है। उन्होने कहा जो शहरो में चैराहे बनाये गये है वह शहर की पुरानी जनसंख्या के घनत्व के हिसाब से बनाये गये है। उन्होने कहा आज की जनसंख्या की देखते हुये उनमे मूलभूत परिर्वतन की आवश्यकता है ताकि यातायात की व्यवस्था आसान हो सकें। उन्होने कहा राष्ट्रीय राजमार्गो पर साइनेज मानको के अनुरूप लगाये जाने आवश्यक है। उन्होने कहा सडक की स्थिति को देखते हुये गाडियों की रफतार तय की जाय। पावर प्रजेन्टेशन के माध्यम से रूद्रपुर व काशीपुर के मेन चैराहो पर यातायात व्यवस्था की स्थिति की जानकारी दिखाते हुये  डा0 बलुजा ने कहा अधिक टैªफिक वाले स्थानो को पूर्ण अतिक्रमण मुक्त किया जाय। उन्होने कहा गलत दिशा में चलने वाले वाहनों पर लगाम लगायी जाय। उन्होने कहा बच्चों की सुरक्षा हेतु जनजागरूकता अभियान चलाये जाय साथ ही विद्यालय में अध्यापकों को प्रशिक्षण भी दिया जाय।
जिलाधिकारी ने डा0 रोहित बलुजा से अनुरोध किया कि वे जनपद उधमसिंह नगर को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में लें साथ ही यहा के लोक निर्माण विभाग व राष्ट्रीय राजमार्ग के अभियन्ताओं को प्रशिक्षण दे ताकि वे मानको के अनुसार  सडको का चैडीकरण व साइनेजो की स्थापना कर सकें। जिलाधिकारी ने कहा टैªफिक व्यवस्था को ठीक करना हम सब की जिम्मेदारी है। आइआरटीई द्वारा सडक सुरक्षा कार्य हेतु जो भी सुधार कार्य बताये जायेगें उनमें अमल किया जायेगा। जिलाधिकारी ने इस कार्य की पहल करने हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की सराहना की। जिलाधिकारी ने एआरटीओ व पुलिस क्षेत्राधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा जनवरी माह से सडक में कोई भी बिना नम्बर की गाडी नही दिखनी चाहिये। बिना नम्बर की गाडी दिखने पर सम्बन्धित क्षेत्र के एआरटीओ व पुलिस क्षेत्राधिकारी का वेतन रोका जायेगा। उन्होने कहा ओवर  स्पीड, ओवर लोडिंग, खतरनाक तरीके से ड्राइविंग, बिना लाईसेंस, सीट बैल्ट का उपयोग न करने वाले, मोबाइल से वार्ता करते हुए तथा मदिरा का सेवन कर ड्राईविंग करने वालो के खिलाफ सख्ती से कार्यवाही करते हुए उनके लाईसेंस निलम्बन करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा ड्राईविंग स्कूलों की समय-समय पर चैकिंग की जाय ताकि वे गाडी सीखने वाले लोगों को प्रोपर टेªनिंग दे सकें।
बैठक मे एसएसपी कृृष्ण कुमार वीके,विधायक राजकुमार ठुकराल,मेयर रामपाल व उषा चैधरी,अपर जिलाधिकारी जगदीश चन्द्र काण्डपाल,उप जिलाधिकारी युक्ता मिश्र,एसपी कमलेश उपाध्याय,एआरटीओ पूजा नयाल, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY