जानिये..कमल ज्योति कार्यक्रम में क्या कहा मुख्यमंत्री ने

10130
देहरादून-मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत मंगलवार को फारेस्ट गार्डन, रिंग रोड में आयोजित कमल ज्योति कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि आज सुबह से ही शुभ कार्यो का श्री गणेश हो रहा है। जो देश की भावनायें थी और देश जो चाहता था। आज ब्रह्म मुहूर्त से उसी की शुरूआत हो रही है। पीओके में जाकर भारतीय सेना ने पुरी दुनिया को अपनी ताकत दिखाई है। हमने दिखा दिया कि हम 10 मिनट में बहुत कुछ कर सकते हैं। इसके लिये वायु सेना के जवानों को बधाई।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज सबमें उत्साह है। देश क्या चाहता है उसका परिणाम भी सामने है। भारतीय वायु सेना के इस पराक्रम में सैकडों आतंकवादी मारे गये हैं।  मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में सरकार आते ही आतंकवाद के खिलाफ जीरो टालरेंस की नीति अपनाई है। आज का एयर स्ट्राइक आतंकवाद की जड़ पर सबसे बड़ा प्रहार है। इस निर्णायक नेतृत्व के लिए हम प्रधानमंत्री श्री मोदी को हार्दिक बधाई देते हैं, मोदी है तो मुमकिन है।
उन्होंने कहा कि हम वायु सेना एवं सेना के जांबाज रणबांकुरों को दिल की गहराइयों से धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने चुनौती स्वीकार करते हुए पाकिस्तान में स्थित आतंकी ठिकानों को तबाह किया। वर्ष 1971 के बाद पहली बार भारत ने पाकिस्तान के घर पर एयर स्ट्राइक करके आतंकी ठिकानों को तबाह किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नये भारत के निर्माण का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि 2022 में देश की आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने तक देश के हर परिवार को छत, बिजली, पानी व अन्य आवश्यक आधारभूत सुविधायें प्रदान कर देश को गरीबी से मुक्त कराने का भी उन्होंने संकल्प लिया है। आज तीन करोड़ लोगों को आवास उपलब्ध कराने के साथ ही नौ करोड़ घरों में शौचालय, 6 करोड़ परिवारों को गैस, 22 करोड़ लोगों को सामाजिक कल्याण की योजनाओं का लाभ उपलब्ध कराने के साथ ही 31 करोड़ जनधन खातों में 70 करोड़ रूपए जमा हुए है जो देश के विकास में लगा है। किसानों के व्यापक हित में 12 करोड़ किसानों को 06 हजार प्रति किसान की धनराशि उपलब्ध कराई गई है, जो सीधे उनके खाते में जमा हो रही है। मध्यम वर्ग को राहत पंहुचाने के लिए आय कर की सीमा 5 लाख की गई है।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हमने जनता से जो वादे किये हंै उसे पूरा करने में लगे हैं। प्रदेश में सीपेट की स्थापना की जा चुकी है, अस्पतालों में डाक्टरों की तैनाती के साथ ही दूरस्थ क्षेत्रों के लिये टेली मेडिसीन व टेली रेडियोलाॅजी प्रारम्भ की गई है। बुधवार को हर्रावाला में 300 बैड के महिला अस्पताल का शिलन्यास किया जा रहा है। लाॅ विश्वविद्यालय, साईन्स सिटी एवं भव्य शौर्य स्मारक का भी शीघ्र निर्माण किया जायेगा। गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिए दो आदर्श विद्यालयों की स्थापना के साथ ही पौड़ी, नैनीताल एवं उत्तरकाशी में कौशल विकास केन्द्र खौले गये है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 17 वर्षों मंे जहां मात्र 40 हजार करोड़ का निवेश हुआ है वहीं साढ़े चार माह में 13 हजार करोड़ से अधिक के करार हो चुके हैं। चीड़ की पत्तियों से बिजली बनाने, पर्वतीय क्षेत्रों में ग्रोथ सेन्टर की स्थापना एवं अन्य योजनाओं के माध्यम से दुरस्थ क्षेत्रों में विकास का रोड मैप तैयार किया गया है। युवाओं को रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के लिए भी हम प्रयासरत है।