आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से पालन हो: मुख्य निर्वाचन अधिकारी

17
देहरादून- मुख्य निवार्चन अधिकारी श्रीमती सौजन्या ने रविवार सांय सभी रिटर्निंग अधिकारियों व जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ सचिवालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर प्रदेश में लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि चुनाव की घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो गई है। सभी जिला निर्वाचन अधिकारी आदर्श आचार संहिता को सख्ती के साथ लागू करना सुनिश्चित करें। सरकारी व पब्लिक सम्पत्तियों के विरूपण को समयबद्धता के साथ दूर किया जाए। सरकारी वाहनों के दुरूपयोग को भी रोका जाए। सरकारी व्यय से अब कोई भी प्रचारात्मक विज्ञापन नहीं दिया जाएगा। सरकारी वेबसाईटों से राजनीतिक व्यक्तियों के फोटोग्राफ भी हटाए जाने हैं। अब नए टेंडर या वर्कआर्डर नहीं हो सकेगे। उन्होने स्पष्ट किया कि यदि कोई काम भौतिक रूप से शुरू हो चुका है तो वह चलता रहेगा। परंतु कोई शिलान्यास या लोकार्पण नहीं होगा।
  • सी-विजिल पर प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध निस्तारण हो।
  • निर्वाचन में लगे कार्मिकों को आवश्यक प्रशिक्षण दिलाना सुनिश्चित किया जाए।
  • मुख्य निवार्चन अधिकारी श्रीमती सौजन्या ने रिटर्निंग अधिकारियों व जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ प्रदेश में निर्वाचन की तैयारियों की समीक्षा की।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के सी-विजिल एप को गम्भीरता से लेते हुए इस पर प्राप्त शिकायतों का निस्तारण दी गई समय सीमा में किया जाए। कंट्रोल रूम को पूरी तरह से सक्रिय कर दिया जाए। कानून व्यवस्था पर नियमित रूप से रिपोर्ट प्रेषित की जाए। कार्मिकों की ट्रेनिंग व ईवीएम व वीवीपीएटी की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को न्यू -सुविधा एप के साथ निर्वाचन संबंधी सभी आवश्यक नियमों की जानकारी दी जाए।  निर्वाचन प्रक्रिया को पारदर्शी तरीके से सम्पन्न कराने के लिए मीडिया का भी सहयोग लिया जा सकता है। दिव्यांग मतदाताओं को विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराई जानी हैं।
इस अवसर पर अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री वी.षणमुगम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।