राजभवन में वसंतोत्सव का समापन

14

देहरादून-यहां राजभवन में चल रही दो दिवसीय पुष्प प्रदर्शनी वसंतोत्सव का रविवार शाम समापन हो गया।
इस मौके पर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत भी किया।
समारोह को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि इस प्रदर्शनी का मुख्य उद्देश्य किसानों को फूलों की खेती के लिए प्रोत्साहित करना भी है जिससे उनकी आय में वृद्धि होगी।
पुष्पों के महत्व पर बोलते हुए राज्यपाल ने माखनलाल चतुर्वेदी जी की कविता ‘पुष्प की अभिलाषा’ की कुछ पंक्तियां भी पढ़ीं। उन्होंने कहा कि यदि देशप्रेम भी सीखना हो तो पुष्प किसी से पीछे नहीं रहते।
उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी में बीज से लेकर फूलों की खेती तक सारी जानकारी उपलब्ध करायी गयी और कृषि के आधुनिक उपकरणों से लेकर सरकारी योजनाओं और अनुदान की भी सारी जानकारी दी गयी।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य गठन के समय 150 हेक्टेयर में फूलों की खेती होती थी जो पिछले 18 सालों में बढ़कर 1533 हेक्टेयर हो गयी है जो एक अच्छा संकेत है।
उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड का क्लाइमेटिक जोन पुष्पों की बहुत सी प्रजातियों के उत्पादन का अवसर प्रदान करता है।
उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि राज्य में 200 करोड़ रूपये का पुष्प व्यवसाय है और उत्तराखण्ड के चारों धामों में फूलों की बहुत मांग है। राज्य को बाहर की मंडियों से फूल मंगाना पड़ता है।

(भाषा)