उत्तराखण्ड के विभिन्न जिलों की, लोक सभा चुनाव 2019 से संबंधित खबरें

4951
देहरादून-लोक सभा चुनाव 2019 मतदाताओं को जागरूक करने हेतु जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय एवं स्वीप द्रारा देहरादून जिले के विभिन्न क्षेत्रों में मतदाताओं को मतदान हेतु जागरूक किया जा रहा है। जिसमे आज मुख्य तौर पर 1950  nvsp.in,  Cvigil App ​ के बारे मे जन जागरूकता किया गया जिससे मतदाताओं के सामने आने वाली सभी प्रकार की परेशानीयों का हल प्रदान कराया जा सके।
जिला निर्वाचन अधिकारी का खास तौर पर निर्देश है कि देहरादून जिले की सभी जनता इस बार अपना मतदान अवश्य करे। किसी भी प्रकार सूचना 1950 से प्राप्त करे एवं बेधड़क हो कर शिकायत करे, शिकायतकार्ता की पहचान गोपनीय रखी जाऐगी। पहली टीम द्वारा षिंिकेश के थानो चैक काले माटी, गुमानीवाला  मे मतदाताओे को मतदान संबंधित जानकारी प्रदान कराई गयी। दूसरी टीम द्वारा विकासनगर चैक, जमनापुर, सेलाकुई, सैनिक कालोनी एवं विकास नगर बाजार के वोटरों को 11 अप्रैल को मतदान करने हेतू जागरूक किया गया। तीसरी टीम द्वारा चकराता रोड, कौलागढ, दून युनिर्वसीटी, टीएचडीसी कालोनी, यमुना कालोनी, 1950 के बारे बताया गया साथ ही कुछ स्थानो पर मतदान हेतू शपथ दिलाया गया।
चैथी टीम द्वारा गोरखपुर, टुन्नवाला गांव, आऊटर मेहुवाला, मेन मेहुवाला गांव के आस पास के अनेको स्थानो पर लोगो को मतदान करने हेतू जागरूक किया गया। पंाचवी टीम द्वारा शिव मंदिर, मालदेवता, कैनाल रोड, बाला सुन्दरी मदिर, दिलाराम चैक, मसूरी रोड, पुरूकुल गांव, सालन गांव, पौदा एवं प्रताप चैक के निकट हजारो वोटरांे को मतदान के दिन मतदान करने लिये प्रेरित किया गया।
                                                                  —0—
देहरादून-लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 को शांतिपूर्वक, निर्विघ्न एवं निष्पक्षता से सम्पादित कराने को लेकर मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सौजन्या एवं रिटर्निंग अधिकारी/ जिला निर्वाचन अधिकारी एस.ए मुरूगेशन ने महाराणा प्रताप स्पोर्टस कालेज रायपुर में निर्वाचन सम्बन्धित विभिन्न गतिविधियों का जायजा लिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में 2168 कार्मिकों में से 162 कार्मिक अनुपस्थित रहे, प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने वाले कार्मिकों स्पष्टीकरण मांगा गया है।
इस अवसर पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे कार्मिकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सभी कार्मिक अपने कार्य एवं जिम्मेदारी को भलीभांति समझ लें तथा किसी भी कार्मिक की यदि कोई शंका हो तो समय पर उसका समाधान सक्षम अधिकारियों से कर लें। निर्वाचन ड्यूटी में सभी कार्मिक भारत निर्वाचन आयोग की गाईडलाइन के अनुरूप कार्य करें तथा बिना किसी दबाव के अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए निर्वाचन कार्यों का सम्पादन निर्विघ्न एवं निष्पक्षता से पूर्ण करें।
रिटर्निंग अधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रशिक्षण में उपस्थित जोनल एवं सेक्टर मजिस्टेªटों को भारत निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुरूप कार्य करते हुए निर्वाचन कार्यों का सफल सम्पादन करने की बात कही।   उन्होंने बताया कि प्रत्येक जोनल एवं सेक्टर मजिस्टेªट को अतिरिक्त बीयू, सीयू तथा वीवीपैट दी जायेगी, ताकि उनके क्षेत्र के किसी मतदान स्थल पर मशीन  की खराबी होने पर तुरन्त दुसरी मशीन लगाई जा सके। उन्होंने कहा कि प्रत्येक सैक्टर अधिकारी मतदान दिवस पर अपने से सम्बन्धित जोनल मजिस्टेªट से सम्पर्क बनाते हुए प्रत्येक 2 घण्टे  में हुए मतदान की रिपोर्ट/सूचना भी निर्वाचन कन्ट्रोलरूम को उपलब्ध करायेंगे। उन्होंने आपसी सम्बन्ध बनाकर कार्य करने को कहा। उन्होंने कहा कि वनरेबल एवं क्रिटिकल मतदान केन्द्रों में विशेष सुरक्षा व्यवस्था भी उपलब्ध कराई जानी है, जिसके लिए मतदान केन्द्रों का निरीक्षण भी कर लें। उन्होंने निर्वाचन कार्याें हेतु नियुक्त सभी जोनल एवं सैक्टर मजिस्टेªटों को  अपने जोन एवं सेक्टर का एक बार मतदान दिवस से पूर्व निरीक्षण करते हुए प्रत्येक मतदान स्थल पर मूलभूत सुविधाएं यथा दिव्यांग मतदाताओं को मतदान करने हेतु रैम्प व व्हीलचैयर, शौचालय, विद्युत, पानी की व्यवस्था को जांच लिया जाय। उन्होंने कहा कि मतदान दिवस पर दिव्यांग मतदताओं को सहयोग के लिए युवक/महिला मंगल दल के साथ ही एनसीसी, स्काउट गाइड का सहयोग भी किया जायेगा। उन्होंने ईसीआईए के इंजीनियरों से वीपीपैट और ईवीएम की भी जानकारी प्राप्त की तथा उन्हे आवश्यक दिशा-निर्देश दिये और खराब मशीनों को संग्रहित किये जाने को भी कहा।
इस अवसर पर नोडल अधिकारी कार्मिक/मुख्य विकास अधिकारी जी.एस रावत ने अवगत कराया  प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहे कार्मिको एक अन्तिम मौका देते हुए 05 अपै्रल को प्रशिक्षण कार्यक्रम रखा गया है। उन्होंने प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहे कार्मिकों से अनिवार्य रूप से प्रशिक्षण में प्रतिभाग करने के निर्देश दिये। 05 अपे्रल को प्रशिक्षण में प्रतिभाग न करने वाले कार्मिकों के विरूद्ध भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनरूप कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।
                                                                 —-0—
देहरादून-जिला निर्वाचन अधिकारी/ रिटर्निंग अधिकारी 01-टिहरी गढवाल संसदीय निर्वाचन क्षेत्र एस.ए मुरूगेशन ने अवगत कराया है कि लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 के सम्पादनार्थ मतदेय स्थलों में प्रयुक्त होने वाली समस्त ईवीएम और वीवीपैट  के सीलिंग के कार्य हेतु 01-टिहरी गढवाल संसदीय क्षेत्र एवं 05-हरिद्वार संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचन लड़ने वाले समस्त अभ्यर्थियों से महाराणा प्रताप स्पोर्टस कालेज रायपुर  में स्वयं उपस्थित होने या अपने निर्वाचन अभिकर्ता /अधिकृत प्रतिनिधियों को प्रतिभाग करने हेतु अनुरोध किया गया था, किन्तु 3 अपै्रल तक कुछ ही  राजनैतिक दलों /अथ्यर्थियों व उनके प्रतिनिधियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। उन्होंने बताया कि ईवीएम और वीवीपैट सीलिंग का कार्य समाप्ति की ओर है। उन्होंने समस्त 01-टिहरी गढवाल संसदीय क्षेत्र एवं 05-हरिद्वार संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचन लड़ने वाले समस्त अभ्यर्थियों से 5 अपै्रल को 2019 को होने वाले ईवीएम और वीवीपैट सीलिंग तथा माॅक पोल हेतु स्वयं उपस्थित होने या अपने निर्वाचन अभिकर्ता/ प्रतिनिधि को अधिकृत करते हुए महाराणा प्रताप स्पोर्टस कालेज अनिवार्यतः प्रतिभाग करने का अनुरोध किया है।
                                                               —-0—
देहरादून-नोडल अधिकारी जीपीएस टेªकिंग/ विभागाध्यक्ष, रा0पालीटेक्निक देहरादून ने अवगत कराया है कि लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 के सम्पादनार्थ जीपीएस टेªकिंग हेतु नियुक्त नोडल अधिकारी के सहयोग हेतु संयुक्त आयुक्त कार्यालय देहरादून के 20 कर्मिकों को लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के अन्तर्गत नियुक्त किया गया है।
                                                               —-0—
रूद्रपुर– लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 को निष्पक्ष व पारदर्शी सम्पन्न कराने के लिए जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 नीरज खैरवाल द्वारा आज
बगवाडा मण्डी का निरीक्षण कर सभी एआरओ व अन्य नोडल अधिकारियो को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। लोकसभा निर्वाचन को देखते हुए बगवाडा मे बने स्ट्रांग रूम मे जिलाधिकारी द्वारा कंट्रोल यूनिट, बैलेट यूनिट की सीलिंग कार्यो को देखा व  सम्बन्धित विधानसभाओ के एआरओ को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा सभी एआरओ भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार इस कार्य को करे। उन्होने कहा सीलिंग के कार्यो को प्रत्याशी या उनके एजंेट भी देख सकते है। जनपद के 1402 मतदान केन्द्रो हेतु कंट्रोल यूनिट, बैलेट यूनिट व वीवीपेट की सीलिंग का कार्य गतिमान है। जिलाधिकारी ने कहा सीलिंग से पूर्व सभी ईवीएम मे माॅक पोल अवश्य किया जाए। उन्होने कहा माॅक पोल की प्रक्रिया को सभी अभिकर्ताओ को समझाया जाए। उन्होने कहा सभी एआरओ इन कार्यो को अपनी देख-रेख मे कराये इस कार्य मे बिल्कुल भी जल्दबाजी न करे। उन्होने कहा 1402 मतदान केन्द्रो हेतु तैयार की जा रही कंट्रोल यूनिट, बैलेट यूनिट व वीवीपेट के अतिरिक्त रिजर्व मे रहने मशीनो को भी एक बार अवश्य चेक कर ले ताकि आवश्यकता पडने पर रिजर्व मशीनो का उपयोग किया जा सके। उन्होने कहा जनपद के 142 मतदान केन्द्रो की वेब-कास्ंिटग कराई जानी है सभी एआरओ वेब-कास्ंिटग प्रक्रिया को भली-भांति समझ ले।
      इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बरिंदरजीत सिंह, नोडल अधिकारी कार्मिक मयूर दीक्षित, अपर जिलाधिकारी जगदीश चन्द्र काण्डपाल, उप जिला निर्वाचन अधिकारी उत्तम सिंह चैहान, नोडल अधिकारी ईवीएम रूची रयाल, एआरओ हिमांशु खुराना, एपी बाजपेयी, मुक्ता मिश्र, निर्मला बिष्ट, मनीष बिष्ट, विवेक प्रकाश सहित अन्य लोग उपस्थित थे।
                                                               —-0—
हल्द्वानी– इलैक्ट्राॅनिक मीडिया के माध्यम से होने वाले प्रचार-प्रसार के मटेरियल की अनुमति एमसीएमसी से प्राप्त करनी अनिवार्य है। जानकारी देते हुए प्रभारी एमसीएमसी योगेश मिश्रा ने बताया कि प्रचार के लिए बजने वाले आॅडियो मटेरियल की पड़ताल कर एमसीएमसी कमेटी द्वारा अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा एलईडी के माध्यम से प्रत्याशियों के प्रचार की वीडियों मटेरियल का भी परीक्षण एमसीएमसी द्वारा किया जाएगा। परीक्षण के उपरान्त एमसीएमसी द्वारा अनुमति दी जाएगी। बिना अनुमति के इस प्रकार के मटेयिल का प्रचार प्रसार किये जाने पर कार्यवाही होगी। श्री मिश्रा ने बताया कि विभिन्न प्रकार के प्रिंटेड मटेरियल जोकि पम्फलेट, पोस्टर फ्लैक्सी तथा समाचार पत्रों में प्रकाशित होने वाले मेटर की अनुमति लेने की जरूरत नही हैं परन्तु मतदान दिवस 11 अप्रैल को समाचार पत्रों में प्रकाशित होने वाले विज्ञापन मेटर का अनुमोदन 24 घण्टे पूर्व एमसीएमसी से कराना होगा। इसके लिए प्रत्याशी द्वारा अधिकृत व्यक्ति या प्रत्याशी को आवेदन के साथ मेटर को समिति के सम्मुख परीक्षण हेतु प्रस्तुत करना होगा। श्री मिश्रा ने बताया कि फैस बुक व अन्य सोशल मीडिया पर किसी भी मटेरियल को अपलोड करने से पहले उसकी भी अनुमति एमसीएमसी से लेनी होगी।
                                                               —-0—
हल्द्वानी– जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधिकारी श्री विनोद कुमार सुमन ने बताया कि लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2019 हेतु जनपद के लगाये गये निर्वाचन कार्मिकों को अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए 662 कार्मिको को ईडीसी (इलैक्शन ड्यूटी सर्टिफीकेट ) तथा 1068 निर्वाचन कार्मिकों को पोस्टल बैलेट पेपर जारी किए जा चुके हंै। श्री सुमन ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र हल्द्वानी से 144 ईडीसी (इलैक्शन ड्यूटी सर्टिफीकेट ) व 02 पोस्टल बैलेट पेपर, विधानसभा क्षेत्र भीमताल से 57 ईडीसी (इलैक्शन ड्यूटी सर्टिफीकेट ) व 03 पोस्टल बैलेट पेपर, लालकुआ से 81 ईडीसी (इलैक्शन ड्यूटी सर्टिफीकेट ) व 220 पोस्टल बैलेट पेपर, रामनगर से 86 पोस्टल बैलेट पेपर, नैनीताल से 119 ईडीसी (इलैक्शन ड्यूटी सर्टिफीकेट ) व 23 पोस्टल बैलेट पेपर, कालाढूगी विधानसभा क्षेत्र से 261 ईडीसी (इलैक्शन ड्यूटी सर्टिफीकेट ) व 734 पोस्टल बैलेट पेपर जारी किए जा चुके हैं।
मतपत्र प्रभारी अशोक जोशी ने बताया है कि निर्वाचन कार्य में लगे कार्मिकों को ईडीसी तथा पोस्टल बैलेट पेपर से मतदान करने हेतु प्रपत्र एमबीपीजी काॅलेज के निर्वाचन कार्यालय में उपलब्ध हैं जोकि 6 अप्रैल तक सम्बन्धित लोगों को मतदान करने हेतु दिए जायेंगे। उन्होंने बताया कि आयोग के निर्देशानुसार ये प्रपत्र मतदान से केवल चार दिन पहले तक ही दिए जाने हैं, लिहाजा निर्वाचन ड्यूटी पर लगे कर्मचारी डाक द्वारा अपना मतदान करने के लिए आवश्यक प्रपत्र 6 अप्रैल तक अवश्य प्राप्त कर लें। प्रपत्रों के लिए डिग्री काॅलेज में विधानसभावार काउंटर बनाए गए हैं
                                                               —-0—
हल्द्वानी– जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विनोद कुमार सुमन ने बताया है कि विभिन्न संचार माध्यमों से जानकारी मिल रही है कि जिले के बहुत से अधिकारी व कर्मचारी सोशल मीडिया पर पार्टी विशेष के लिए प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह कार्य आदर्श आचार संहिता एवं आदर्श कर्मचारी नियमावली का स्पष्ट उल्लंघन हैं, ऐसा करने पर लोक प्रतिनिधित्व की विभिन्न धाराओं में कार्यवाही हो सकती है। उन्होंने बताया कि लोक सभा निर्वाचन में सोशल मीडिया की मोनीटरिंग के लिए विशेष प्रकोष्ठ गठित किया गया है। जहाॅ पर फैसबुक, व्हाट्एप, इंस्टाग्राम, ट्वीटर आदि की बारीकी से मोनीटरिंग जारी है।
श्री सुमन ने जिले भर के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों से कहा है कि वर्तमान में सभी की सेवाएं भारत निर्वाचन आयोग के अधीन हैं, ऐसे में कोई भी राजकीय सेवक किसी भी प्रत्याशी या राजनैतिक दल के प्रचार-प्रसार में हिस्सेदारी न करें। यदि कोई कर्मचारी प्रचार करते हुए या सोशल मीडिया पर प्रचार करते हुए पाया जाएगा तो उसके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।

—-0—

हल्द्वानी– मतदान प्रक्रिया को त्रुटिहीन तरीके से सम्पनन कराने के लिए प्रशासन की ओर से तैनात किए गए कार्मिकों के सिलसिलेवार दूसरे प्रशिक्षण का दौर जारी है। जिसके क्रम में गुरूवार को सरगम सिनेमा में मतदान कार्मिकों का प्रशिक्षण आयोजित किया गया। जिसमें 240 मतदान पार्टियों में तैनात कार्मिकों को नोडल अधिकारी प्रशिक्षण डाॅ.महेश कुमार तथा अखिलेश शुक्ला द्वारा डाटा प्रोजेक्टर के माध्यम से प्रशिक्षण दिया गया, जबकि ईवीएम प्रभारी पीसी जोशी ने ने वीवीपैट, ईवीएम के संचालन की व्यवहारिक जानकारी दी। कार्मिकों द्वारा मशीनों पर अभ्यास कर, दी गई जानकारी का रिहर्सल भी किया।
प्रशिक्षण कार्यशाला में सम्बोधित करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विनोद कुमार सुमन ने कहा कि सभी कार्मिक अपनी-अपनी मतदान पार्टी के साथ टीम भावना एवं आपसी तालमेल से कार्य सम्पादित करें। उन्होंने सभी मतदान कार्मिकों को निर्देशित करते हुए कहा कि मतदान पार्टियों के नम्बर ट्रेस किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि निर्धारित मार्ग के अलावा अन्य मार्ग से यात्रा करने तथा आवंटित वाहन के अलावा अन्य वाहन से यात्रा करने वाली मतदान पार्टियों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। इसलिए कोई भी मतदान पार्टी निर्धारित मार्ग व आवंटित वाहन के अलावा अन्य मार्ग व वाहन से यात्रा न करे। उन्होंने सभी मतदान पार्टियों को सम्बन्धित मतदान केन्द्रो पर पहुॅचकर कन्ट्रोल रूम को प्राथमिकता से जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि प्रशिक्षण में सिखाई जा रही सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को आत्मसात करें, जिससे मतदान प्रक्रिया में गलती की गुंजाईश ही न रहे तथा किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो। उन्होंने मतदान पार्टियों को निर्धारित स्थलों पर ही रात्रि विश्राम तथा भोजन करने तथा किसी भी व्यक्ति का आतिथ्य स्वीकार न करने के निर्देश सभी मतदान पार्टियों को दिए। उन्होंने सभी कार्मिकों को स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के निर्देश दिए।
प्रशिक्षण में नोडल अधिकारी प्रशिक्षण डाॅ.महेश कुमार तथा प्रभारी अधिकारी प्रशिक्षण अखिलेश शुक्ला ने पीठासीन अधिकारी के कार्य एवं दायित्व, मतदान अधिकारी प्रथम, द्वितीय, तृतीय तथा चतुर्थ के कार्यों एवं दायित्वों, सांवधिक लिफाफे (प्रथम लिफाफे-हरे रंग के), असावधिक लिफाफे (द्वितीय लिफाफे-पीले रंग के)े, मतदान सामग्री के लिफाफे(तृतीय लिफाफे-भूरे रंग के), मतदान सामग्री का लिफाफा (चतुर्थ लिफाफा-नीले रंग का), के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मतदान कार्मिकों को पीठासानी अधिकारी द्वारा तथा पीठासनी अधिकारी को एआरओ द्वारा कार्यमुक्त किया जाएगा। इसके अलावा टैण्डर वोटर, मत रद्द करना, चैलेंज वोट, ग्रीन पेपर सील बैलेट यूनिट, कन्ट्रोल यूनिट, वीवीपैट, आदर्श आचार संहिता, बैलेट पैपर, टेस्ट वोट, मतदान केन्द्र पर मतदान कार्मिकों के कत्र्तव्य एवं दायित्व, वोटर हैल्प लाईन, वेब कास्टिंग, मशीनों को सील करने में उपयोग होने वाली विभिन्न प्रकार की मोहरों एवं सीलों के बारे में, टेण्डर वोट, मतदान शुरू करने व समाप्ति की घोषणा, मतदान स्थगन की विभिन्न परिस्थितियाॅ, मतपत्र लेखा तैयार करने के बारे मे विस्तार से सैद्वान्तिक एवं व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया गया। नोडल अधिकारी ईवीएम श्री पीसी जोशी की देखरेख में एमबीपीजी काॅलेज में ईवीएम तथा वीवीपैट का हैण्ड्स आॅन प्रशिक्षण प्रदान किया गया।
प्रशिक्षण र्काशाला में उप जिला निर्वाचन अधिकारी केएस टोलिया, प्रभारी अधिकारी निर्वाचन कार्मिक व्यवस्था केके गुप्ता, प्रभारी अधिकारी बूथ लेवल आधारभूत सुविधाएं हीरालाल गौतम, नोडल अधिकारी खान-पान व्यवस्था तेजबल सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक गौपाल स्वरूप के अलावा पीठासीन अधिकारी व कार्मिक उपस्थ्तिा थे।