रिस्पना नदी को पुनर्जीवित करने हेतु सरकार द्वारा शीघ्र ही ठोस व गम्भीर प्रयास आरम्भ किए जाएगे

0
486
देहरादून 18 अक्टूबर, 2017(सू.ब्यूरो)-‘‘रिस्पना से ऋषिपर्णा’’  मिशन के तहत रिस्पना नदी को पुनर्जीवित करने हेतु राज्य सरकार द्वारा शीघ्र ही ठोस व गम्भीर प्रयास सक्रिय जनभागीदारी के साथ आरम्भ किए जाएगे। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत नेे गुरूवार को मुख्यमंत्री आवास में ईको टास्क फोर्स 127 गढ़वाल राइफल्स के सीओ श्री हरीराज सिंह राणा तथा यूएसईआरसी के निदेशक प्रो0 दुर्गेश पन्त तथा अन्य पदाधिकारियों के साथ रिस्पना नदी के पुनर्जीवन तथा राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में फलोत्पादन तथा अखरोट वृक्षारोपण के प्रोत्साहन के सम्बन्ध में चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि रिस्पना नदी को पुर्नजीवित करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में है। राज्य सरकार द्वारा इस मिशन हेतु पर्याप्त धनराशि सुनिश्चित की जाएगी।  उन्होंने ईको टास्क फोर्स के पदाधिकारियों से कहा कि रिस्पना नदी के पुनर्जीवीकरण हेतु एक स्वतन्त्र निकाय की स्थापना के साथ इस मिशन के तहत वृक्षारोपण के साथ ही छोटे-छोटे चैक डैमो का निर्माण भी आवश्यक है ताकि जल सरंक्षण के साथ ही ग्राउण्ड वाटर लेवल में भी वृद्धि होगी। जनता की सक्रिय व प्रभावी भागीदारी का आहवाहन करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि रिस्पना के पुनर्जीविकरण को एक महा जन अभियान बनाना होगा। उन्होंने कहा कि व्यापक जनभागीदारी सुनिश्चित करने हेतु रिस्पना के पुर्नजीविकरण से सम्बन्धित एक वेबसाइट शीघ्र ही लाॅन्च की जाय।  ईको टास्क फोर्स द्वारा पर्वतीय क्षे़त्रों में फलोत्पादन तथा अखरोट वृक्षारोपण के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में पर्यावरण अनुकूल फलों व अखरोट के उन्नत प्रजाति व गुणवता के पौधे उपलब्ध करवाये जाय। किसानों को इन्टरक्रोपिंग हेतु अधिकाधिक प्रोत्साहित किया जाय ताकि अच्छे उत्पादन की सुनिश्चितता के साथ ही किसानों के आय में बढ़ोतरी हो। हाल ही में ईको टास्क फोर्स के दो जवानों राइफलमैन व्रिकम सिंह तथा राइफलमैन धरम सिंह  की वृक्षारोपण के दौरान मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जवानों के आश्रितों की हर सम्भव सहायता की जाएगी।
इस अवसर पर ईको टास्क फोर्स 127 गढ़वाल राइफल्स के सीओ श्री हरीराज सिंह राणा द्वारा बताया गया कि ईको टास्क फोर्स द्वारा राज्य में जूनियर ईको टास्क फोर्स का गठन किया गया है। जूनियर ईको टास्क फोर्स द्वारा 1000 बच्चों को वृक्षारोपण व जल संरक्षण का प्रशिक्षण दिया गया है। रिस्पना नदी की पुर्नजीविकरण हेतु भी ईको टास्क फोर्स प्रयासरत है। इस दिशा में नदी की सेटेलाइट इमेजरी कर ली गई है। चमोली के जोशीमठ के निकट सराईकोटा में 1 लाख अखरोट के वृक्षों का वृक्षारोपण किया जा रहा है। टास्क फोर्स वृक्षारोपण हेतु चमोली के माना मलारी क्षेत्र में विशेष प्रयास कर रही है।
इस अवसर पर ईको टास्क फोर्स के पदाधिकारियों द्वारा मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र को अंजीर का पौधा भेंट किया गया।

LEAVE A REPLY