उच्चतम न्यायालय के 4 जजों ने बुलाई प्रेस कांफ्रेंस, सीजेआई पर उठाई उंगली

0
1436

नयी दिल्ली, 12 जनवरी (वार्ता) आजाद भारत के इतिहास में पहली बार उच्चतम न्यायालय के चार मौजूदा न्यायाधीशों ने आज अपना कामकाज छोड़कर आनन-फानन में प्रेस कांफ्रेंस बुलाई और देश के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) की कार्यशैली पर सवाल खड़े किये।
शीर्ष अदालत के दूसरे वरिष्ठतम न्यायाधीश जस्ती चेलमेश्वर के तुगलक रोड स्थित आवास पर बुलाये गये संवाददाता सम्मेलन में चारों न्यायाधीशों ने सर्वोच्च अदालत की कार्यप्रणाली में प्रशासनिक व्यवस्थाओं का पालन नहीं किये जाने और सुनवाई के लिए महत्वपूर्ण मुकदमों के आवंटन में मनमाना रवैया अपनाने का आरोप लगाया।
इस प्रेस कांफ्रेंस में न्यायमूर्ति चेलमेश्वर के साथ न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर, न्यायमूर्ति रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ भी उपस्थित थे।

उच्चतम न्यायालय के चार न्यायाधीशों द्वारा इस न्यायालय के कार्यकलाप को लेकर आज प्रेस कांफ्रेंस करने पर कांग्रेस तथा कई वरिष्ठ विधि विशेषज्ञों ने चिंता जाहिर की है।
कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर पेज पर देश के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों द्वारा न्यायालय के कामकाज को लेकर पहली बार प्रेस कांफ्रेंस करने पर चिंता जतायी और कहा कि यह लोकतंत्र के लिए खतरनाक है।
पार्टी ने कहा ‘‘उच्चतम न्यायालय के कार्यकलापों पर कोर्ट के चार जजों की प्रेस कांफ्रेंस चिंताजनक है।

LEAVE A REPLY