सीमांत क्षेत्रों से पलायन रोकने हेतु प्रभावी प्रयास जारी-मुख्यमंत्री

0
1246
देहरादून 14 अप्रैल, 2018-मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री आवास में दारमा सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास समिति के सदस्यों ने भेंट की। समिति के सदस्यों ने जनपद पिथौरागढ़ के सीमांत क्षेत्र, दारमा घाटी की विभिन्न समस्याओं से सम्बन्धित ज्ञापन भी मुख्यमंत्री को सौंपा। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने समिति के सदस्यों को आश्वस्त किया कि क्षेत्र की समस्याओं के समाधान के लिए सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को निर्देशित कर समस्याओं के त्वरित समाधान का प्रयास किया जायेगा।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हमारे सीमांत क्षेत्रों के निवासी हमारी सीमा के प्रहरी भी है। सीमांत क्षेत्रों से पलायन रूके, इस दिशा में भी प्रभावी प्रयास किये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सीमांत क्षेत्रों को सडकों से जोडने के भी प्रयास किये जा रहे है। इन क्षेत्रों के स्थानीय उत्पादों के कृषिकरण तथा जैविक खेती को बढ़ावा देने के साथ ही बेहतर मार्केटिंग सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। सीमांत क्षेत्रों में बिजली, पानी, स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधाओं के विकास के लिये भी योजनायें बनायी गयी है।
दारमा सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास समिति द्वारा मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र से दारमा  क्षेत्र में  पर्यटन की अपार सम्भावना के दृष्टिगत कैलाश मानसरोवर यात्रा से दारमा घाटी को भी जोड़ने,  पंचाचुली ट्रैक मार्ग, दातु गाँव से न्योल्पा-स्याॅकूटी-गब्बे-निप्पा से दूग्तू 8 किमी. टैªकिंग मार्ग के विकास, दारमा में जडी-बूटी उत्पादन/कृषिकरण की अपार संभावनाओ के दृष्टिगत दारमा में जडी-बूटी विकास एवं शोध केन्द्र की स्थापना, पारम्परिक एवं जैविक खेती के लिए घाटी में कुट्टू, आलू, राजमा की पैदावार को प्रोत्साहन राशि प्रदान किये जाने तथा इसके लिये बाजार उपलब्ध कराये जाने, घाटी में खेती के लिये आधुनिक कृषि संयत्रों की उपलब्धता तथा इनके क्रय में छूट प्रदान किये जाने, दारमा घाटी में स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार, एतिहासिक दाॅतू गबला देव मेले को राजकीय मेला घोषित करने, ग्राम दाॅतू दारमा में पूरे घाटी का केन्द्र स्थान होने से पर्यटकों की सुविधा के लिये पर्यटक आवास गृह की स्थापना किये जाने, क्षेत्र में दारमा वासियों के माल की सुरक्षा के लिए उर्थिंग नामक स्थान पर पुलिस चैकी की स्थापना का अनुरोध किया गया।
 इस अवसर पर दारमा सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास समिति के अध्यक्ष श्री रामसिंह सोनाल, उपाध्यक्ष श्री सोमी सिंह दुग्ताल, श्रीमती पार्वती दुग्ताल, महासचिव श्री जगत सिंह दताल सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY