सीएम ने लिया कड़ा फैसला – पाॅलीथीन पूर्ण रूप से होगी बन्द

0
1013
देहरादून 03 मई, 2018-मुख्यमंत्री ने पाॅलिथीन जनित कचड़े को समाप्त करने के लिये जुलाई के उपरान्त हर तरह की पाॅलिथीन बंद करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि आम जनता को जागरूक किया जाए। व्यापारियों और स्टाॅकिस्ट को भी जागरूक किया जाए कि वे पाॅलिथीन प्रतिबंध में सहयोग प्रदान करें। जुलाई के उपरान्त प्रदेश में पाॅलिथीन का उपयोग स्वीकृत नही होगा। मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को इस दिशा में कडे कदम उठाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कुछ शहरों में पाॅलिथीन पर पूर्ण प्रतिबंध का आदर्श पालन हो रहा है। यह बात मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को सचिवालय में चारधाम यात्रा, टिहरी झील महोत्सव एवं पर्यटन विभाग की अन्य गतिविधियों की समीक्षा करते हुये कही। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज भी इस अवसर पर उपस्थित थे। इस अवसर पर सभी जिलाधिकारी वीडियो कांफ्रेन्सिंग से जुडे हुए थे।
यात्री सुविधा का रखे ध्यान-सीएम
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने सभी जिलाधिकारियों से तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों की सुविधाओं का ध्यान रखने का कहा। पुलिस प्रशासन का यात्रियों के साथ अच्छा व्यवहार हो। जिला प्रशासन स्थानीय लोगों तथा व्यापारियों की सुविधा का ध्यान भी रखे। खाने-पीने की दुकानों में ओवर रेटिंग न हो तथा रेट लिस्ट लगाई जाए।
श्री केदारनाथ धाम में कार्डियोलाॅजिस्ट नियुक्त
मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को श्री केदारनाथ धाम सहित सभी चारधाम स्थलों हेतु चिकित्सा सुविधाओं के नियमित अनुश्रवण के निर्देश दिये। जिलाधिकारी रूद्रप्रयाग श्री मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि श्री केदारनाथ धाम में फिजीशियन एवं कार्डियोलाॅजिस्ट सहित कुल 04 विशेषज्ञ डाॅक्टर नियुक्त हो गये हैं। पैदल मार्ग पर कुल 12 डाॅक्टर तथा 14 फार्मासिस्ट तैनात है। यात्रियों को पूर्ण स्वास्थ्य चेकअप के बाद ही अनुमति दी जा रही है। रामबाड़ा से केदारनाथ धाम तक पैदल मार्ग 06 मीटर चैड़ा कर दिया गया है। मार्ग पर सुरक्षा रेलिंग का कार्य शीघ्र पूर्ण हो जायेगा।
लेजर शो एक बडा आकर्षण-डीएम
जिलाधिकारी रूद्रप्रयाग ने बताया कि श्री केदारनाथ धाम में लेजर शो को लेकर लोगों में बहुत उत्साह है। पुनर्निर्माण कार्यों के प्रति भी श्रद्धालुओं में उत्सुकता है। आम लोग संगम से ही मंदिर का सीधा दर्शन प्राप्त कर आनंदित हो रहे हैं।
यात्रा मार्गों के एटीएम में कैश पर रखें नजर-सीएम
मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को यात्रा मार्गों के साथ ही जनपदों के एटीएम में कैश पर लगातार नजर रखने के निर्देश दिये है। यदि कहीं कोई दिक्कत आये तो लीड बैंक के माध्यम से आरबीआई को तुरन्त सूचित किया जाए।
टिहरी को अन्तर्राष्ट्रीय टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनाना है- सीएम
आगामी 25-27 मई को प्रस्तावित टिहरी झील महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि टिहरी को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनाना है। उन्होंने कहा कि टिहरी झील महोत्सव इस दिशा में एक बड़ा कदम होगा। इस महोत्सव हेतु सभी तैयारियां समय पर पूर्ण की जाय। इस महोत्सव से विदेशी सैलानियों को आकर्षित करने के लिये एअरपोर्ट और प्रमुख टूरिस्ट स्थानों पर प्रचार प्रसार भी किया जाय।
जी.एम.वी.एन. की वेबसाइट बंद होने पर सीएम नाराज
मुख्यमंत्री ने यात्रा सीजन के प्रारंभ में ही जी.एम.वी.एन. की बुकिंग वेबसाइट के बंद होने के प्रकरण को गंभीरता से लिया। उन्होंने अधिकारियों को आगाह किया कि भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति न हो। यात्रियों की सुविधा के लिये बनायी गयी हर व्यवस्था का नियमित अनुश्रवण हो।
यात्रियों के बायोमैट्रिक रजिस्ट्रेशन के लिये एप
पर्यटन विभाग ने यात्रियों के बायोमैट्रिक रजिस्ट्रेशन के लिये एक मोबाइल एप तैयार किया है। कुछ दिनों तक इसकी टेस्टिंग के उपरान्त इसे लांच किया जायेगा। इस एप के माध्यम से तीर्थ यात्री बिना बायोमैट्रिक रजिस्ट्रेशन काउंटर पर गये अपने स्मार्ट फोन के माध्यम से पंजीकरण करा सकेंगे। इस एप के द्वारा प्रत्येक डेस्टिनेशन पर यात्रियों की संख्या उनका यात्रा मूवमेंट आदि पता करने में आसानी होगी। इस एप के माध्यम से यात्रियों को महत्वपूर्ण सूचनाएं तथा चेतावनियां भी त्वरित गति से दी जा सकेंगी।
सचिव पर्यटन ने चारधाम यात्रा हेतु किये जा रहे प्रमुख कार्यों एवं रोपवे निर्माण से सम्बन्धित जानकारी दी
पर्यटन सचिव श्री दिलीप जावलकर ने बताया कि केदारनाथ पैदल मार्ग पर 234 अस्थाई शौचालय बनाये गये हैं। केदारनाथ पैदल मार्ग पर 209 सफाई कर्मचारियों की तैनाती की गई है। गढ़वाल मण्डल विकास निगम द्वारा गौरीकुण्ड से केदारनाथ तक 2838 शैय्याओं तथा निजी क्षेत्र में 200 टैन्ट की व्यवस्था की गई है। 08 स्थानों पर पंजीकरण का कार्य गतिमान है। उन्होंने कहा कि देहरादून से मसूरी रोपवे के लिए परिवर्तित एलाइनमेंट हेतु ई.ओ.आई प्रकाशित हो चुका है। केदारनाथ रोपवे के लिए यू.आई.पी.सी से टैक्नो इकानोमिक फिजीबिलिटी स्टेडी(टी.इ.एफ.एस.) की प्रक्रिया गतिमान है। सुरकण्डा एवं पूर्णागिरी रोपवे का निर्माण कार्य प्रगति पर है। रानीबाग से नैनीताल रोपवे की भी टैक्नो इकानोमिक फिजीबिलिटी स्टेडी तैयार की जा रही है।
बैठक में मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह, डीआईजी गढवाल श्री पुष्पक ज्योति, अपर सचिव श्री आशीष श्रीवास्तव, अपर सचिव श्रीमती ज्योति खैरवाल, जिलाधिकारी टिहरी श्रीमती सोनिका, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री रमेश भट्ट आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY