रिस्पना नदी को पुराने क्लेवर में लाने के प्रयास जारी, जानिये कैसे..?

0
721
देहरादून, 11 मई 2018, जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेशन की अध्यक्षता में कलैक्टेªट सभागार में विभिन्न केन्द्रीय संस्थानों के प्रतिनिधियों के साथ ‘मिशन रिस्पना’ से ऋषिपर्णा को पुनर्जीवित  करने के सम्बन्ध में बैठक आयोजित की गयी।
जिलाधिकारी ने प्रजैन्टेशन के माध्यम से रिस्पना की ऐतिहासिकता वर्तमान स्थिति तथा उसके पुनर्जीवन के लिए किये जा रहे भविष्यगामी प्रयासों को साझा किया। उन्होने कहा कि यहां बहुत पहले से निवास करने वाले अपना अनुभव बताते हैं रिस्पना नदी स्वच्छ और पानी के प्रवाह से परिपूर्ण थी और वर्तमान में नदी की हालत को देखकर वे लोग बहुत दुखी हैं साथ ही ‘‘स्वच्छ दून सुन्दर दून’’ की देहरादून की छवि भी इस नदी के सूखने व गंदा होने से धूमिल हुई हैं।
उन्होने कहा कि ‘मिशन रिस्पना’ उसी का एक प्रयास हैं, जिससे नदी को उसके पुराने वैभव में लौटाया जाय और मा मुख्यमंत्री सभी के जनसहयोग से इसका पुनर्जीवन करना चाहते हैं। नदी पुनर्जीवन के अन्तर्गत विभिन्न विभागों को पहले से ही अपने-अपने कार्योंे की कार्ययोजना तैयार करवायी गयी है, जिसके तहत  वन विभाग, ईको टास्क फोर्स, जल संस्थान, नगर निगम, सिंचाई विभाग, राजस्व विभाग, एमडीडीए आदि विभाग वृक्षारोपण, सौन्दर्यीकरण, स्वच्छता, सफाई, नाला टैपिंग, सीवरेज ट्रीटमैन्ट इत्यादि का कार्य करेंगे। वृक्षारोपण बड़े पैमाने पर एक साथ करने हेतु विभिन्न शिक्षण संस्थानों , गैर सरकारी संगठनों का सहयोग भी लिया जायेगा। उन्होने बताया कि वृक्षारोण दो चरणों में सम्पन्न होगा। प्रथम चरण में 19 मई को वृक्षारोपण हेतु गड्डे खोदे जायेंगे तथा दूसरे चरण में जुलाई माह के दूसरे -तीसरे सप्ताह में वृक्षारोपण कार्य किया जायेगा। इस कार्य के लिए पूरे क्षेत्र को 15 सैक्टरों में विभाजित किया गया है और विभिन्न शिक्षण संस्थानों, केन्द्रीय संस्थानों और गैर सराकारी संगठनों को ब्लाॅकवार गड्डे खोदने और वृक्षारोपण करने हेतु कार्य आवंटित किया जायेगा। वृक्षारोपण हेतु ब्लाॅक अवैयरनेस तथा सहायक संसाधन से लेकर मार्गदर्शन के लिए विभिन्न अधिकारियों की नियुक्ति की जा चुकी है।
जिलाधिकारी ने कहा कि यह एक पर्यावरण संरक्षण का नैतिक कार्य है जिसको करना हम सब की जिम्मेदारी  है और आपसी समन्वय से हमें यह कार्य करके दिखाना है।
इस अवसर पर डाॅ0 सी रमेश आईएफएस एफआरआई कैम्पस, मुख्य विकास अधिकारी पुलिस अधीक्षक एसडीआरएफ अजय भट्ट, एफआरआई से आरटी पाण्डियन, प्रबन्धक ओएनजीसी बी एस नेगी, जिला होमगार्ड कमाण्डेन्ट राहुल सचान, उप कमाण्डेन्ट आई.टी.बी.पी विनोद राणा, ग्राम प्रधान नवीन क्षेत्री एवं बीएसएफ, एसएसबी, सिविलि डिफेन्स वाडिया संस्थान, लांयस क्लब के अधिकारियों/प्रतिनिधियों सहित विभिन्न केन्द्रीय संस्थानों  के अधिकारी/प्रतिनिधि एवं सम्बन्धित जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY