मुख्य सचिव ने जड़ी बूटियो और अन्य औषधीय पौधों का ज्यादा से ज्यादा सदुपयोग करने पर जोर दिया

0
339
देहरादून 18 मई, 2018-मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित राज्य आयुष मिशन सोसाइटी की शासी निकाय की बैठक में 35.63 करोड़ रुपये की वार्षिक कार्य योजना का अनुमोदन किया गया। शुक्रवार को सचिवालय में आयोजित बैठक में मुख्य सचिव ने उत्तराखण्ड में उपलब्ध जड़ी बूटियो और अन्य औषधीय पौधों का ज्यादा से ज्यादा सदुपयोग करने पर जोर दिया।
       बैठक में बताया गया कि इस धनराशि से आयुर्वेद, होम्योपैथिक औषधियों की खरीद की जाएगी। आयुष चिकित्सकों के माध्यम से स्कूलों में बच्चों का हेल्थ चेकअप किया जाएगा। जगह-जगह कैम्प लगाकर आयुष विद्या, संयमित जीवनचर्या और आयुर्वेद के सिद्धांतों के अनुसार शरीर रक्षा के बारे में जागरूक किया जाएगा। आशा और एएनएम को ट्रेनिंग दी जाएगी। आयुष रिसर्च को आगे बढ़ाने के लिए चरक आयुर्वेदिक रीसर्च सेंटर की स्थापना की जाएगी। इसके साथ ही आयुर्वेद विश्वविद्यालय में योगा और नेचुरोपैथी इंस्टिट्यूट की स्थापना की जाएगी। ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेदिक फार्मेसी और स्टेट ड्रग टेस्टिंग लैब को सुदृढ़ किया जाएगा। राज्य के 08 उच्चीकृत आयुर्वेदिक चिकित्सालयों में दैनिक योग और वैलनेस सेंटर स्थापित किये जायेंगे। उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के सहयोग से विशेषज्ञों के माध्यम से टेली मेडिसिन सुविधा प्रदान की जाएगी।
       बैठक में सचिव आयुष श्री आर.के.सुधांशु, सचिव नियोजन श्री रंजीत सिन्हा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY