उत्तराखण्ड को ’दिशा’ के अन्तर्गत उत्कृष्ठ कार्य के लिये मिला पुरस्कार

0
5223
Reading Time: 1 minute
नई दिल्ली/देहरादून 28 जून, 2018-गुरूवार को विज्ञान भवन नई दिल्ली में केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति(दिशा) की दूसरी वर्षगॉठ के अवसर पर आयोजित बैठक में उत्तराखण्ड को ’दिशा’ के अन्तर्गत उत्कृष्ठ कार्य के लिये केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेद्र सिंह तोमर द्वारा पुरस्कार प्रदान किया गया।
राज्य सरकार की ओर से यह पुरस्कार उत्तराखण्ड के ग्रामीण विकास विभाग के अपर आयुक्त डॉ. आर.एस.पोखरिया द्वारा प्राप्त किया गया। केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा ’दिशा’ के अन्तर्गत उत्तराखण्ड के साथ ही चार अन्य राज्यों छत्तीसगढ़, झारखंड, केरल व मिजोरम को भी पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री द्वारा ’दिशा’ डैश बोर्ड भी लांच किया गया। भविष्य में ’दिशा’ से संबन्धित आयोजित होने वाली सभी बैठकों की कार्यवाही डैश-बोर्ड में अपलोड की जायेंगी एवं पिछली बैठक में दिये गये निर्देशों की समीक्षा भी की जायेगी। केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने बताया कि ’दिशा’ के अन्तर्गत जिलों में 04 से अधिक बैठकों का आयोजन करने वाले राज्यों को पुरस्कृत किया जायेगा।
उल्लेखनीय है कि ’दिशा’ जिलों के प्रभावी और समयबद्ध विकास के लिये संसद, राज्य विधान मण्डलों, और स्थानीय सरकारों(पंचायती राज संस्थाओं/नगरपालिका निकायों) के निर्वाचित प्रतिनिधियों के बीच बेहतर समन्वय सुनिश्चित करने के उद्देश्यों की पूर्ति के लिये जिला विकास समन्वय और निगरानी समितियां गठित की गई है। ’दिशा’ के अन्तर्गत राज्य स्तर पर होने वाली बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री एवं जिलों की त्रैमासिक बैठकों की अध्यक्षता सांसदों द्वारा की जाती है।
इस अवसर पर केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री श्री राम कृपाल यादव व अन्य राज्यों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY