We are not charging for helicopter services for Rescuing People-U.K. Govt

0
4940
Reading Time: 1 minute

Dehradun 15 July, 2018 –It is being circulated by some people on the social media that the Uttarakhand government is charging for helicopter services from the disaster affected people in Pithoragarh. This is to clarify in this regard that the said news is completely misleading. In view of the possibility of heavy rains and on the instructions of the Chief Minister Mr. Trivendra Singh Rawat to safeguard the people trapped in the disaster, arrangements have been made for one helicopter each in Garhwal and Kumaon.

Given the high sensitivity of Pithoragarh, it was decided to station the helicopter there. Also, clear instructions have been given to Heli Transport Company that no rent will be taken from people trapped in the disaster and local citizens. When the helicopter is not needed for disaster relief, only at that time it can be used for taking travelers (who are not disaster affected) from Dharchula to Gunji and for this the fare of Rs 2500 & GST can be charged from the passengers. This fare has been fixed only for non-rescue flights. But helicopter will not be used for ordinary passengers, if needed for disaster rescue operations. No rent will be taken for safely rescuing local people trapped in the disaster.

देहरादून 15 जुलाई, 2018-सोशल मीडिया में कतिपय लोगों द्वारा यह प्रचारित किया जा रहा है कि उत्तराखंड सरकार द्वारा पिथौरागढ़ में आपदा प्रभावितो को हेलीकाप्टर से निकाले जाने पर किराया लिया जाएगा। इस संबंध में स्पष्ट करना है कि उक्त खबर भ्रामक है। भारी बारिश की सम्भावनाओं को देखते हुए आपदा में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के निर्देश पर गढ़वाल व कुमाऊँ में एक-एक हेलीकाप्टर की व्यवस्था की गई है।
 पिथौरागढ़ की अधिक संवेदनशीलता को देखते हुए वहां हेलीकाप्टर रखने का निर्णय किया गया। साथ ही हेली परिवहन कम्पनी को स्पष्ट निर्देश दिये गये हैं कि आपदा में फंसे लोगों व स्थानीय नागरिकों से कोई किराया नही लिया जाएगा। जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत के लिए जरूरत न हो केवल उस समय पिथौरागढ़ में  धारचुला से गुंजि तक सामान्य यात्रियों (जो कि आपदा प्रभावित नही है) को ले जाने के लिए प्रयोग किया जा सकता है और इसके लिए यात्री से किराया 2500 रूपए $ जीएसटी लिया जा सकेगा। यह किराया सिर्फ़ नॉन रेस्क्यू उड़ानों के लिए निर्धारित किया गया है। परंतु आपदा बचाव के लिए जरूरत होने पर हेलीकाप्टर सामान्य यात्रियों के लिये प्रयोग नही किया जाएगा। आपदा में फंसे लोगों व स्थानीय नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिए उनसे किसी तरह का कोई किराया नही लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY