Sanction granted for projects worth Rs.1812 crore/ 2221 लोगों को रोजगार के मिलेंगे अवसर

0
5783
Reading Time: 1 minute

Dehradun 30 July, 2018 –The single window clearance of State Empowered Committee during its last meeting discussed investment proposals worth Rs.1812 crores. In a meeting presided over by Chief Secretary at Secretariat on Monday, it was informed that in principle sanction to these units have been granted. A total of 2221people will get employment through these.

 In the Single Window system, clearance for projects is granted within 15 days. Chief Secretary gave clear instructions that all the departments should adhere to the time limit.  Principal Secretary MSME Manisha Panwar informed that to implement single window system online portal  www.investuttarakhand.com has been started.

The entrepreneurs apply online to establish their units. Proceedings are done on Common Application Form and portals of all the departments giving sanctions and clearances are integrated.

Principal Secretary Home Anand Vardhan, Secretary Tourism Dilip Jawalkar, Additional Secretary Forest Dheeraj Pandey, Member Secretary Pollution Control Board S.P.Subudhi, CCF B.K. Gangte and other officers were present.

देहरादून 30 जुलाई, 2018-सिंगल विंडो क्लीयरेंस की राज्य प्राधिकृत समिति की पिछली बैठक में 1812 करोड़ रुपये के पूंजी निवेश पर विचार किया गया था। इस बारे में सोमवार को सचिवालय में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में बताया गया कि इन इकाईयों की स्थापना की सैद्धान्तिक स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। इससे 2221 लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

सिंगल विंडो सिस्टम के अंतर्गत 15 दिनों में सैद्धान्तिक स्वीकृति प्रदान की जाती है। मुख्य सचिव ने स्पष्ट निर्देश दिए कि सभी विभाग इस टाइम लाइन का पालन करें। प्रमुख सचिव एमएसएमई श्रीमती मनीषा पंवार ने बताया कि सिंगल विंडो सिस्टम को लागू करने के लिए ऑनलाइन पोर्टल www.investuttarakhand.com शुरू किया गया है। अपनी इकाई स्थापित करने के लिए उद्यमी ऑनलाइन आवेदन करते हैं। कैफ(कॉमन एप्लीकेशन फॉर्म) पर ही कार्यवाही की जाती है। स्वीकृतियां, अनापत्ति देने वाले सभी विभागों के पोर्टल को इससे एकीकृत किया गया है।
बैठक में प्रमुख सचिव गृह श्री आनंद बर्धन, सचिव पर्यटन श्री दिलीप जावलकर, अपर सचिव वन श्री धीरज पाण्डेय, सदस्य सचिव प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड श्री एसपी सुबुद्धि, सीएसएफ श्री बीके गांगटे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY