प्रधानमंत्री से राज्य हित से जुड़ी विभिन्न विकास योजनाओं पर चर्चा करेंगे मुख्यमंत्री / CM to take up Uttarakhand related issue with PM

0
8958
देहरादून 07 अगस्त, 2018-मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत आगामी गुरूवार 09 अगस्त, 2018 को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भेंट कर राज्य हित से जुड़ी विभिन्न विकास योजनाओं पर चर्चा करेंगे। देहरादून में अक्टूबर माह मे आयोजित होने वाले इन्वेस्टर मीट में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित होने के लिए आमंत्रण स्वीकार करने का भी मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री से पुनः अनुरोध करेंगे। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र विभिन्न विकास योजनाओं के संचालन एवं क्रियान्वयन हेतु केन्द्रीय सहायता प्रदान करने से सम्बंधित योजनावार विस्तृत विवरण भी प्रधानमंत्री के समक्ष रखेंगे।
मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के समक्ष रखे जाने वाले राज्य हित से जुडे विषयों पर सम्बंधित विभागों के प्रमुखों के साथ आयोजित बैठक मे मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने व्यापक विचार विमर्श किया। मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री के समक्ष जिन विषयों पर चर्चा करेंगे उनमें हरिद्वार में आयोजित होने वाले कुम्भ मेले एवं पूरे वर्ष विभिन्न धार्मिक मेलों तथा करोड़ो श्रद्धालुओं के आगमन के कारण अत्यधिक यातायात दबाव तथा जाम की स्थिति से निजात पाने के लिए गंगा नदी पर कनखल से नीचे जगजीतपुर के निकट एक अतिरिक्त 2.50 किलोमीटर लंबा सेतु बनाये जाने, नीलधारा में घाटों के निर्माण एवं सौन्दर्यीकरण, संपूर्ण भारतवर्ष एवं उत्तराखंड में पानी के संकट के दृष्टिगत एक नई सीएसएस बनाये जाने, राष्ट्रीय परियोजना घोषित किशाऊ बहुउद्देशीय परियोजना (600 मेगावाट), लखवाड़ बहुउद्देशीय परियोजना (300 मेगावाट) को 90-10 के अनुमात में संचालित करने, बावला नंदप्रयाग जल विद्युत परियोजना (300 मेगावाट), नंदप्रयाग लंगासू जल विद्युत परियोजना(100 मे.वा.) के निर्माण, देहरादून की पेयजल समस्याओं के समाधान हेतु सौंग डैम पर बांध का निर्माण हेतू 1000 करोड़, हल्द्वानी में बहुउद्देशीय जमरानी बांध परियोजना हेतु लगभग रु 3000 करोड, वर्ष 2021 में होने वाले कुंभ के आयोजन हेतु स्थाई परिसंपत्तियों के निर्माण हेतु आवश्यक धनराशि उपलब्ध कराने, हिमालयन राज्यों हेतु प्रख्यापित औद्योगिक नीति में ट्रांसपोर्ट सब्सिडी दिये जाने, नैनीताल स्थित एचएमटी की भूमि राज्य सरकार को वापस दिये जाने, मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हेतु बीएचईएल की जमीन की उपलब्धता, टनकपुर से पिथौरागढ़-बागेश्वर एवं रामनगर-चौखुटिया रेल मार्ग के साथ ही बागेश्वर-कर्णप्रयाग रेल मार्ग निर्माण के सम्बंध में मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री से अनुरोध करेंगे। इसके साथ ही राज्य द्वारा राष्ट्र को प्रदान की जा रही ईको सिस्टम सर्विसेज (ESS) को राष्ट्रीय अंकेक्षण प्रणाली (नेशनल एकाउंटिंग सिस्टम) में सम्मिलित किये जाने, इस प्रणाली के अंतर्गत Green deficit States से धनराशि एकत्र कर एक नेशनल एक्सचेंज का सृजन किये जाने, हरित आच्छादन @ESS के अनुसार धनराशि का आवंटन किये जाने तथा जब तक यह प्रणाली सृजित नही होती तब तक उत्तराखंड को 2000 करोड रुपए प्रति वर्ष ग्रीन बोनस दिये जाने का भी अनुरोध मुख्यमंत्री करेंगे। चौखुटिया अल्मोड़ा में नयी हवाई पट्टी बनाने, राज्य में चरक की जन्मस्थली कोटद्वार के समीप अंतरराष्ट्रीय आयुष शोध संस्थान की स्थापना व राज्य के आपदाग्रस्त 350 गांवों के विस्थापन के लिये भी आर्थिक सहयोग का अनुरोध भी मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री से करेंगे। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड में रेल सेवाओं के बेहतर विकास एवं सुविधाओं के लिये उत्तराखण्ड को उत्तर रेलवे के अधीन किये जाने का प्रस्ताव भी प्रधानमंत्री के समक्ष रखेंगे। बैठक मे मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि आपदा ग्रस्त एवं दुर्गम क्षेत्रों में आवागमन एवं सामान की ढुलाई की उचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाय।
बैठक में कैबिनेट मंत्री श्री सतपाल महाराज, अपर मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश, प्रमुख सचिव श्री आनन्द वर्द्धन, सचिव श्री आर.के.सुधांशु, श्री अमित नेगी, श्री शैलेष बगोली, श्री अरविन्द सिंह ह्यांकी, डॉ. रणजीत सिन्हा सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Dehradun 07 August, 2018 –Uttarakhand Chief Minister Mr. Trivendra Singh Rawat will meet Prime Minister Mr. Narendra Modi in New Delhi on August 9 to discuss various development projects related to the interest of the state. The Chief Minister will also again request the Prime Minister to accept the invitation to participate in the proposed Investors Summit being organized by Uttarakhand in the month of October as a Chief Guest.  Chief Minister Mr. Trivendra Singh Rawat will also brief the Prime Minister about the implementation of different developmental projects and to seek central government funds for the same.

 The Chief Minister held a meeting with the heads of the various departments on the issues related with the interests of the state that would be put forth before the Prime Minister Mr. Narendra Modi and held detailed discussions at Chief Minister’s residence here on Tuesday. The issues that the Chief Minister is going to discuss with the Prime Minister include a 2.50 kilometer long bridge to be built on river Ganga at Kankhal near Jagjitpur in Haridwar to ease the traffic flow in view of the forthcoming Kumbh Mela and other religious festivals, beautification and rebuilding of ghats at Neeldhara, a new CSS in view of the scarcity of water in the entire country and Uttarakhand, Kishau multi-purpose project (600MW) of National importance,  to operate Lakhwar multi-purpose project (300 MW) in the ratio of 90:10, Bawla-Nandprayag Hydro power project (300 MW), construction of Nandprayag-Langsu Hydro-electric project (100 MW), grant of Rs.1000 crore for construction of Song Dam for tackling the water crisis of Dehradun, Rs.3000 crore for multi-purpose Jamrani dam project, required money for building permanent infrastructure for 2021 kumbh at Haridwar, grant of transport subsidy

to industrial units in Himalayan states, return of land of HMT back to state government, availability of land at BHEL for multi model logistics at Haridwar, Tankpur to Pithoragarh-Bageshwar and Ramnagar-Chukhutia railway line and Bageshwar-Karanprayag railway line.

 Besides these, he will also take up with the Prime Minister Mr. Narendra Modi the issue of inclusion of Eco-System Services by the state to the country in the National Accounting System and through this system collection of money from Green Deficit States and formation of a national exchange,   grant of money as per green cover@ESS and till the system is in place Uttarakhand be given a sum of Rs. 2000 crore every year as ‘Green Bonus’.

The Chief Minister will also request the Prime Minister to grant funds for construction of new air strip at Chukhutia-Almora, formation of International Ayush Research Institute near Kotdwar which is birth place of Charak and money for resettlement of 350 disaster prone villages. The Chief Minister will also request the Prime Minister to include Uttarakhand in Northen Railways for development and better railway services in the state. The Chief Minister instructed the officials that transportation of goods in disaster affected and remote area should be ensured.

Cabinet Minister Satpal Maharaj, Additional Chief Secretary Om Prakash, Principal Secretary Anand Vardhan, Secretary R.K. Sudhanshu, Amit Negi, Shailesh Bagoli, Arvind Singh Hyanki, Dr. Ranjeet Sinha and officials of other concerned departments were present in the meeting

LEAVE A REPLY